लाइफस्टाइल में करे बदलाव, रखें किडनी को स्वस्थ
Post By : CN Rashtriya Webdesk   |  Posted On: 7 months ago  |  131

लाइफस्टाइल में करे बदलाव, रखें किडनी को स्वस्थ




हम सभी के लिए बीते बर्ष 2020 बेहद ही डरावना और टेंशन से भरा रहा । वर्ष 2020 जाते जाते बहुत सारी बदलाव भी करती गई । बीते वर्ष 2020 में कोरोना वायरस के महामारी ने पूरी दूनिया झकझोर के रख दिया था और साथ ही साथ हमे अपने लाइफस्टाइल में बहोत सी बदलाव भी कर गई । हम में से कुछ लोग होंगे जो अपने सेहद और लाइफस्टाइल पे ध्यान देते होंगे लेकिन कोरोना वायरस ने हम सबको अपने लाइफस्टाइल में बदलाव की सीख दे डाली । बीते वर्ष हम सबने अपने शरीर और सेहत को अहमियत दी और उसे हेल्दी बनाए रखने के लिए क्या नहीं किया। तो अगर हम कुछ बदलाव करे तो हम बीमारियों से दूर और स्वस्थ रह सकते है ।


क्यों ना इस वर्ष हम यह संकल्प ले की लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करे और स्वस्थ रहे । लोग उम्र के साथ किडनी की बीमारी से ग्रस्त हो जाते हैं। चाहे फिर वो डायबिटीज़ की वजह से हो या फिर कोई और बीमारी। हम लाइफस्टाइल में ये बदलाव से, लंबे समय तक किडनी को स्वस्थ रख सकते है । आमतौर पर लोग उम्र के साथ किडनी की बीमारी से ग्रस्त हो जाते हैं। चाहे फिर वो डायबिटीज़ की वजह से हो या फिर कोई और बीमारी।


डॉक्टर्स बताते है कि शरीर के बाकि अंगो के साथ किडनी का भी ख्याल रखना चाहिए, किडनी हमारी शरीर में जमा हुआ कचरा साफ़ करती है, तो इसलिए किडनी का भी हमें ख्याल रखना चाहिए । इसके लिए आपको अपनी लाइफस्टाइल में ये बदलाव करने होंगे।


नियमित व्यायाम : हम सभी जानते है कि नियमित व्यायाम से हम कई बीमारियों से दूर रह सकते है । नियमित रूप से व्यायाम करने से हम अपनी किडनी को स्वस्थ रक् सकते है । यह क्रोनिक किडनी रोग के जोखिम को कम कर सकता है। यह आपके रक्तचाप को कम कर सकता है और आपके हृदय के स्वास्थ्य को बढ़ा सकता है, जो किडनी को नुकसान से बचाने के लिए महत्वपूर्ण हैं।


अपने ब्लड शुगर को नियंत्रित रखें : शरीर में ब्लड शुगर का लेवल ज्यादा होने से किडनी पे असर परता है क्यों कि जब आपके शरीर की कोशिकाएं आपके रक्त में ग्लूकोज (चीनी) का उपयोग नहीं कर सकती हैं, तो आपके किडनी आपके रक्त को छानने के लिए अतिरिक्त मेहनत करने के लिए मजबूर होते हैं। हालांकि, अगर हम अपने ब्लड शुगर पे नियंत्रित करे , तो हम किडनी के नुकसान के जोखिम को कम करते हैं। इसके अलावा, यदि क्षति जल्दी पकड़ी जाती है, तो डॉक्टर अतिरिक्त नुकसान को कम करने या रोकने के लिए कदम उठा सकता है।


नियमित रक्त चाप की जांच : उच्च रक्तचाप के कारण किडनी की क्षति हो सकती है। यदि उच्च रक्तचाप मधुमेह, हृदय रोग या उच्च कोलेस्ट्रॉल जैसे अन्य स्वास्थ्य मुद्दों के साथ होता है, तो आपके शरीर पर प्रभाव महत्वपूर्ण हो सकता हैं । इसलिए नियमित रूप से रक्त चाप की जांच करनी चाहिए ।


वजन नियंत्रण और स्वस्थ आहार खाएं : जो लोग ज्यादा वजन या मोटापे से ग्रस्त हैं उन्हें कई बीमारियों का जोखिम उठाना परता हैं, इसलिए वजन पे नियंत्रण रखे और स्वस्थ आहार खाएं ।


धूम्रपान न करें : धूम्रपान आपके शरीर की रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचाता है। इससे आपके पूरे शरीर में और आपके गुर्दे में रक्त प्रवाह धीमा हो जाता है।


वीडियो