कोरोना का प्रकोप, आईएमएफ ने भारतीय अर्थव्यवस्था वृद्धि दर अनुमान 12.5 फीसदी से घटाकर किया 9.5 फीसदी
Post By : CN Rashtriya Webdesk   |  Posted On: 2 months ago  |  168

कोरोना का प्रकोप, आईएमएफ ने भारतीय अर्थव्यवस्था वृद्धि दर अनुमान 12.5 फीसदी से घटाकर किया 9.5 फीसदी

नयी िदल्ली ः देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण का प्रकोप गत साल से है हालांकि अब मामले धीरे धीरे कम हाे रहे है वहीं वैक्सीनेशन अभियान रफ्तार पकड़े हुए है लेकिन इस वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था पर बहुत बूरा असर पड़ा है जिस वजह से बहुत सी रेटिंग एजेंसिया देश की वृद्धि दर का अनुमान कम आंक रही है। खबर के अनुसार अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने भारतीय अर्थव्यवस्था वृद्धि दर अनुमान 12.5 फीसदी से घटाकर किया 9.5 फीसदी कर दिया है। आर्इएमएफ ने चालू वित्त वर्ष के लिए देश की अर्थव्यवस्था के लिए वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 9.5 फीसदी कर दिया है। इससे पहले अप्रैल में आर्इएमएफ ने चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर का अनुमान 12.5 फीसदी रखा था। वित्त वर्ष 2022-23 के लिए वृद्धि दर का अनुमान 8.5 फीसदी रखा गया है। पहले यह अनुमान 6.9 फीसदी था।

कोरोना के कारण हालात खराब

आर्इएमएफ ने अपने हालिया वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक में कहा कि मार्च-मई के बीच कोरोना की दूसरी लहर की वजह से वृद्धि काे काफी गहरा धक्का लगा है। दूसरी लहर की वजह से सेंटिमेंट बुरी तरह प्रभावित हुई है और इसे ट्रैक पर वापस लौटने में अब समय लगेगा। भारतीय अर्थव्यवस्था में वित्त वर्ष 2020-21 में 7.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी। उसके बाद से अर्थव्यवस्था में धीरे-धीरे सुधार आ रहा है।

कई एजेंसियों ने वृद्धि दर का अनुमान घटाया 

इससे पहले कई और एजेंसियों ने भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए वृद्धि दर का अनुमान घटाया है। पिछले महीने S&P ग्लोबल ने चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर का अनुमान 9.5 फीसदी और वित्त वर्ष 2020-23 के लिए अनुमान 7.8 फीसदी बताया था। उससे पहले वर्ल्ड बैंक ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि चालू वित्त वर्ष में वृद्धि दर 8.3 फीसदी रहेगा। एशियन डेवलपमेंट बैंक ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में वृद्धि दर 10 फीसदी रहेगा। उसका पूर्व अनुमान 11 फीसदी का था।

2025 तक 4 ट्रिलियन डॉलर 

अमेरिकी रेटिंग एजेंसी Moody’s ने चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर का अनुमान 9.3 फीसदी रखा है। कैलेंडर ईयर 2021 के लिए उसने वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 9.6 फीसदी कर दिया है। वित्त वर्ष 2019-20 में देश की अर्थव्यवस्था का आकार 2.87 ट्रिलियन डॉलर था, जबकि वित्त वर्ष 2020-21 में यह घटकर 2.66 ट्रिलियन डॉलर पर पहुंच गया। वित्त वर्ष 2024-25 तक इसके 4 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है।

ग्लोबल इकोनॉमी के लिए वृद्धि दर 6 फीसदी 

आर्इएमएफ ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि साल 2021 में ग्लोबल इकोनॉमी 6 फीसदी की दर से विकास करेगी। 2022 में यह विकास दर 4.9 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है। केयर रेटिंग्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि चालू वित्त वर्ष (2021-22) में देश की अर्थव्यवस्था में 8.8-9 फीसदी के बीच  वृद्धि दिखेगा। उसने कहा कि इसमें एग्रिकल्चर और इंडस्ट्रीज का बड़ा योगदान होगा। वित्त वर्ष 2020-21 में देश की अर्थव्यवस्था में 7.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी।

रोज दिन के मामले गिरकर 30 हजार से नीचे अाए

देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों से आज बहुत दिनों बाद राहत मिली है। इससे पहले इतने कम मामले 132 दिन पहले यानी 16 मार्च को आए थे। 16 मार्च को 28,869 आए थे। इसके अलावा सक्रिय मामलों में दो दिनों से लगातार बढ़त के बाद पिछले 24 घंटों में मामलों में गिरावट देखी गई है। कोरोना के ज्यादातर मामले केरल से आ रहे हैं। केरल इस वक्त देश में कोरोना का नया हॉट स्पॉट केंद्र के रूप में उभरा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने पिछले 24 घंटे का ताजा आंकड़ा जारी करते हुए बताया कि देश में पिछले 24 घंटे में 29 हजार 689 कोरोना के मामले सामने आए है। वहीं कोरोना संक्रमण से 416 मौत के मामले सामने आए है। कल कोरोना के 39,361 मामले सामने आए थे। देश में कोरोना से मृत्यु दर 1.34 प्रतिशत से ज्यादा है। कोरोना के मामलों को देखते हुए कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री मोदी ने छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी। इसमें उन्होंने कोरोना के तीसरी लहर को लेकर सबको सचेत भी किया है।

ये हैं देश के ताज़ा हालात 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने पिछले 24 घंटे का ताजा आंकड़ा जारी करते हुए बताया कि देश में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3 करोड़ 14 लाख 40 हजार 951 हो गई है। इनमें से 3 करोड़ 6 लाख 21 हजार 469 मरीज स्वस्थ हो गए है। पिछले 24 घंटे में ही 42 हजार 363 कोरोना संक्रमित स्वस्थ हुए है। देश में अभी भी 3 लाख 98 हजार 100 मरीजों का इलाज चल रहा है। कुल मरीजों में से 4 लाख 21 हजार 382 मरीजों ने कोरोना से अपनी ज़िंदगी खो दी है। पिछले 24 घंटे में ही 415 संक्रमितों ने ज़िंदगी गवां दी है। 

अब तक लगा 43 करोड़ से ज्यादा टीका

देश में अब तक 44 करोड़ 19 लाख 12 हजार 395 लोगों का टीकाकरण (Vaccination) हो चुका है। पिछले 24 घंटे में ही 66 करोड़ 3 लाख 112 लोगों ने टीका लगवाया है। 

अब तक 45 करोड़ से ज़्यादा जांच

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने ट्वीट करके बताया कि देश में कल तक कोरोना वायरस संक्र्रमण के कुल 45 करोड़ 91 लाख 64 हजार 121 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं। वहीं पिछले 24 घंटे में ही 17,20,110 सैंपल टेस्ट किए गए हैं।


वीडियो